Bengal News: पश्चिम बंगाल में हुई नड्डा और मोहन भागवत की एंट्री, सीएम ममता के गढ़ में सेंध लगाने की तैयारी कर रही BJP

LSChunav     Aug 12, 2023
शेयर करें:   
Bengal News: पश्चिम बंगाल में हुई नड्डा और मोहन भागवत की एंट्री, सीएम ममता के गढ़ में सेंध लगाने की तैयारी कर रही BJP

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए बीजेपी ने पश्चिम बंगाल पर ध्यान देना शुरू कर दिया है। इसी वजह से आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बंगाल के कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे। पार्टी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए राज्य में प्रमुखता से ध्यान केंद्रित कर रही है।

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए बीजेपी ने पश्चिम बंगाल पर ध्यान देना शुरू कर दिया है। इसी वजह से आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बंगाल के कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे। मोहन भागवत का बंगाल पहुंचने का मुख्य उद्देश्य आरएसएस की दो दिवसीय पूर्वी क्षेत्रीय कार्य समिति में हिस्सा लेना है। दो दिवसीय पूर्वी क्षेत्रीय कार्य समिति शुक्रवार से शनिवार तक चलेगी।


पश्चिम बंगाल में आरएसएस के अंदरूनी सूत्रों की मानें तो संगठन के राष्ट्रीय प्रमुख मोहन भागवत दो पहलुओं पर अहम जानकारी दे सकते हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार, राज्य में आरएसएस का पहला मकसद निष्क्रिय शाखाओं को सक्रिय किए जाने पर विचार किया जाएगा। इसके अलावा लोकसभा चुनाव 2024 के लिए संगठन की रणनीति को अंतिम रूप देना है। इसके साथ ही नड्डा का राज्य में मुख्य फोकस बीजेपी की दो दिवसीय दिवसीय पूर्वी क्षेत्रीय कार्यशाला में भाग लेना है।


इसके बाद पूर्वी क्षेत्रीय कार्यशाला शनिवार से पूर्वी मिदनापुर जिले के कोलाघाट में शुरू होकर अगले शुक्रवार तक जारी रहेगा। उम्मीद जताई जा रही है कि पीएम मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कार्यशाला को वर्चुअल मोड में संबोधित करने की उम्मीद है। इसके अलावा कार्यक्रम में केंद्रीय़ वाणिज्य मंत्री भी उपस्थित रहेंगे। इस कार्यक्रम में बंगाल, झारखंड, बिहार और ओडिशा के साथ केंद्र शासित प्रदेश अंडमान-निकोबार के पार्टी प्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे।


बता दें कि बीजेपी पार्टी द्वारा लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए राज्य में प्रमुखता से ध्यान केंद्रित कर रही है। केंद्रीय नेतृत्व ने 2024 के लोकसभा चुनाव में राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 36 सीटों पर जीत हासिल करने का लक्ष्य रखा है। इसके अलावा बंगाल में पार्टी के जिला स्तरीय संगठन में व्यापक बदलाव किए गए हैं।