Mamta Banerjee: पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी ने किया बड़ा ऐलान, राज्य के मदरसों का किया जाएगा सर्वे

LSChunav     Aug 03, 2023
शेयर करें:   
Mamta Banerjee: पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी ने किया बड़ा ऐलान, राज्य के मदरसों का किया जाएगा सर्वे

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने पूरे राज्य में एक सर्वे किए जाने का ऐलान किया है। इसके साथ ही राज्य में केन्द्र सरकार की नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन होगा। इस दौरान सीएम ममता ने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा।

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने एक बड़ा ऐलान किया है। सीएम ममता ने कहा कि पूरे राज्य में एक सर्वे किया जाएगा। इस सर्वे के तहत मदरसों का रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। सीएम ममता के मुताबिक राज्य में मौजूद जो भी मदरसा सरकार के साथ रजिस्टर होना चाहते हैं। वह इस सर्वे का हिस्सा बन सकते हैं। इसके अलावा उन्होंने राज्य में शब-ए-बारात और करणी पूजा की पूरे दिन की छुट्टी का ऐलान भी किया है। उन्होंने कहा कि राज्य में सबसे ज्यादा सरकारी छुट्टियां होती हैं। इस दौरान सीएम ममता ने केंद्र सरकार पर भी हमला बोला।


मदरसों को लेकर कही बड़ी बात

सीएम ममता ने रजिस्ट्रेशन को लेकर कहा कि इससे मदरसों को फायदा है। मदरसों में पढ़ने वाले लड़के-लड़कियों को इसके माध्यम से आगे की शिक्षा और नौकरी में कई सुविधाएं प्राप्त होंगी। ऐसे में जो भी मदरसे रजिस्ट्रेशन प्रोसेस में हिस्सा लेना चाहें। वह हिस्सा ले सकते हैं और जो मदरसे हिस्सा नहीं लेना चाहते वह न लें। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार में हर पर्व को समान रूप से देखा जाता है। पश्चिम बंगाल में सभी त्योहारों को समान महत्व दिया जाता है और छुट्टी दी जाती है।


इसके अलावा ममता बनर्जी ने कहा कि 6 अगस्त को दोपहर बारह बजे से शाम चार बजे तक पूरे बंगाल में केन्द्र सरकार की नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन होगा। इस विरोध प्रदर्शन में ब्लॉक स्तर से लेकर शहर मे वार्ड स्तर पर विरोध किया जाएगा। मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा कि यह केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ एक राजनीतिक निर्णय और विरोध होगा।


साथ ही सीएम ममता ने निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र सरकार सिर्फ यह कहते हैं कि यहां पर ऋण बढ़ रहा है। लेकिन कभी भी अपने ऋण बढ़ने की बात जनता के सामने नहीं कहते हैं। उन्होंने कहा कि इतनी सारी विकास परियोजनाओं को लागू करने के बाद भी उनकी सरकार ने अपना बोझ कम कर लिया है। लेकिन केंद्र सरकार इस बारे में कभी जवाब नहीं देती है।